गर्मी से बचने के लिए 6 घरेलू उपाय- TOP Tips To Fight Summer In Hindi

0
432
गर्मी से बचने के उपाय हिंदी में
गर्मी से बचने के उपाय हिंदी में

गर्मी से बचने के लिए 6 घरेलू उपाय दोस्तों तेज धूप ने परेशान करना शुरू कर दिया है। गर्मी में हमारे शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचता है, इसलिए जितना हो सके गर्मी से बचने की कोशिश करनी चाहिए। घरेलू उपाय आजमा कर हम गर्मी में धूप से बच सकते है।

गर्मी से बचने के उपाय हिंदी में
गर्मी से बचने के उपाय हिंदी में

गर्मी से बचने के उपाय हिंदी में: गर्मी के मौसम में तेज धूप की वजह से तापमान बढ़ना, लू लगना, हवा में रूखापन और ज़मीन में पानी का सुखना जैसी समस्याएं आती है। कई शहरों में तो तापमान 45 डिग्री से भी जादा हो गया है। गर्मियों में लोग डिहाइड्रेशन और लू से बचने के लिए कुछ ना कुछ ठंडा खाते और पीते रहते हैं पर इसके साथ साथ हमें गर्मी में लू और धूप से बचने के उपाय की पूरी जानकारी होना चाहिए ताकि हम गर्मी में होने वाले रोगों से बचे रहे। आइये जाने गर्मी से बचने का तरीका और घरेलू टिप्स क्या है, home remedies and natural tips to fight summer in hindi.

गर्मी से बचने के लिए 6 घरेलू उपाय – गर्मी से बचने के आसान घरेलू उपाय

  • सादा पानी आपकी त्वचा को तरोताजा रखता है। आप अगर बहुत थकान महसूस कर रहे हैं तो पानी के छीटों से आप फ्रेश महसूस करेंगे।
  • एक बोतल में आप परफ्यूम की थोड़ी सी बूँदों के साथ ज्यादा मात्रा पानी मिला लें। स्प्रे बोतल की तरह इसका इस्तेमाल करें, इससे आप रिफ्रेश महसूस करेंगे।
  • खीरे के जूस को आप चेहरे पर लगाएं, यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है। इससे चेहरे पर ठंडक महसूस होगी और आप सनबर्न की समस्या से बचे रहेंगे।
  • पिसी हुई चंदन, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजें लगाने से गर्मी में राहत मिलती है। धूप से आने के कुछ घंटों बाद मुल्तानी मिट्टी और चंदन पाउडर लगाने से आपकी त्वचा को ठंडक महसूस होगी।
  • घमौरियां हो जाने पर नीम और तुलसी का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है। गुलाब की पत्तियों को पानी में भिगोकर उस पानी से चेहरा धोने पर गर्मी के मौसम में त्वचा मुलायम बनी रहती है।
  • चेहरे पर पीसी हुई चंदन और खीरे के जूस के साथ दो-तीन बूंद ग्लिसरीन की बूंदें और गुलाब जल मिलाकर उसका लेप लगाने पर भी राहत मिलती है।

खाने-पीने का ध्यान रखें

गर्मी के मौसम में खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। पेट की खराबी और अधिक तैलीय व मसालेदार खाद्य-पदार्थों का सेवन करने से पाचन-क्रिया प्रभावित होती है। इससे अनेक बीमारियां हो सकती हैं।

  • गर्मी में अधिक शुष्कता के कारण शरीर में जल की मात्रा कम हो जाती है। इसकी पूर्ति के लिए बार-बार जल और जलीय पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • धनिए को पानी में भिगो लें फिर उसे अच्छी तरह मसल लें और छानकर उसमें थोड़ी सी शकर मिला लें। इसे पीने से गर्मियों में राहत मिलती है।
  • इमली के बीज को पीसकर उसे पानी में घोलकर कपड़े से छान लें। इस पानी में शक्कर मिलाकर पीने से गर्मी में राहत मिलती है।
  • जहां तक हो सके गर्मियों में विटामिन ए युक्त फ्रूस्टी जैसे ब्लैक ग्रेप्स, हरे पत्ते वाली वेजिटेबल्स, विटामिन सी से युक्त रसीले फ्रूट्स जैसे आम, खट्टे फ्रूट्स और नींबू पानी लेने चाहिए।
  • इस मौसम में दही, मौसमी ताजे फल जैसे संतरा, पपीता, स्ट्रॉबेरी, ग्रेप का जूस ज्यादा से ज्यादा पीये। ये हेल्दी होने के साथ-साथ शरीर को अंदर से ठंडा रखने में सहायक होते हैं।
  • बेल का शरबत गर्मी के लिए बहुत उत्तम माना जाता है। गर्मी में मोटापा घटाने में भी यह सहायक होता है।
  • नारियल में प्रचूर मात्रा में पौष्टिक तत्व होते है। गर्मी में इसका सेवन सबसे अच्छा होता है।
  • नीबू की शिकंजी गर्मी के लिए बहुत अच्छा पेय है। इसे घर में आसानी से तैयार किया जा सकता है।
  • पुदीने में प्राकृतिक रूप से पिपरमिंट पाया जाता है, इसलिए गर्मी में यह बहुत उपयोगी होता है। लू, बुखार, शरीर में जलन और गैस की तकलीफ को दूर करता है।
  • किसी भी तरह की अपच,अजीर्णता, पित्त की अधिकता, पेट दर्द, गैस में जलजीरा लाभकारी होता है।
  • पूरे उत्तर भारत में गर्मी के मौसम में ठंडाई का उपयोग खूब होता है।
  • गर्मी के मौसम में जीरा-नमक डालकर छांछ पीना भी फायदेमंद होता है।

दोस्तों ये मेरी पोस्ट आपको जरूर पसंद आयी होगी तो आप मेरा पेज लाइक जरूर कीजियेगा ऐसी ही दूसरी पोस्ट के लिए……

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here